Showing posts from September, 2023Show all
कविता  सहूलियत....लोग अक्सर अपनी सहूलियत से बदल जाते है ।
कविता  लालच ... कुछ  ज़्यादा  पाने की चाहत...
रुला देने वाली दर्द भारी शायरी एक बार जरूर पढे
दिल छू जाने वाली प्यार भरी शायरी एक बार जरूर पढे
गौतम शेन्डे  जी  की दिल छू जाने वाली कुछ रचनाएं
एक बेबस बाप बेचारा छोटी सी कविता ..अंकित कुशवाहा
बलात्कार... दुष्कर्म.        दिनेश  कुमार पांडेय (बीनू) जी की दिल छू जाने वाली कविता
आखिर पलायन कर जाता है.… अंकित
That is All